कठरिया सन्देश

२० फाल्गुन २०८०, आईतवार

  • gold Teach Computer
    gold Teach Computer
  • भावना ‘पुष आइल जाड लैके’

    भावना ‘पुष आइल जाड लैके’
    Spread the love

    अगहन महिना उराईल राम जोहरी करके
    पुष महिना आइल चारो घैंन जाड लैके
    सबका बेह होईल जोडी एक बनाके
    मैं काहिक हुइगिनु अक्केले यि महिनामे

    समझ समझके बेचैनी हुईता यि जाडमे
    दिलके बात सम्झैया कुई नाई हे तन्हाईमे
    केहके समझुं अब मै पुष महिनक रातमे
    जैसे तैसे कटा लहमु रात मैं यि पाखमे

    माघ लक फसाईक परि कुईक बतामें
    सोंचत हौं मनाउँ दाई बाबन बेहके बातमे
    बनहें कुई फलनियाँ मोर अब दुल्हनियाँ
    जाने कैसन चाल चलनके हुइहें सजनियाँ

    सोंच सोंचके रात कटैतुं सुनो ओ धनियाँ
    प्यारके मौसम हे बाजा बजैम हो चुनियाँ
    अगहन उराईल राम जोहरी करके
    पुष महिना आइल चारो घैंन जाड लैके

    अर्जुन सिंह कठरिया
    पहलमानपुर, कैलाली

    सुचना तथा संचार मन्त्रालय,
    दर्ता नं. : 071/72/770,
    पान नं.: 6026465656565656565

    ब्यवस्थापक :- अर्जुन कठरिया

    प्रकाशक :- राजेन्द्र कठरिया

    प्रधान सम्पादक :- टिआर कठरिया

    © 2024 Copyright: Dahit Group PVT.LTD